Important Notice: The final results of YUVA Sangam competition have been declared. Click here to check the results. Congratulations to all winners.

RULES & REGULATIONS

योग्यता

यह प्रतियोगिता उत्तर प्रदेश के सभी मूल निवासी जिनकी उम्र 15 से 35 वर्ष के बीच है तथा यूपी के कॉलेजों में पढ़ रहे विद्यार्थियों (उम्र 15 से 35 वर्ष) के लिए खुली है।

क्षेत्रीय सम्मेलनों के लिए चुनी गई सभी टीम के सदस्यों की पात्रता की पुष्टि उनके पहचान और अधिवास दस्तावेजों के सत्यापन के बाद की जाएगी। यदि कोई भागीदार अयोग्य पाया जाता है, तो संबंधित टीम को प्रतियोगिता से अयोग्य घोषित किया जाएगा।



रजिस्‍ट्रेशन के लिए दिशानिर्देश:

  • प्रत्येक टीम में 5 सदस्य होने चाहिए।
  • प्रत्येक टीम में एक टीम लीडर होना चाहिए, सिर्फ उसी से संपर्क किया जाएगा।
  • केवल टीम लीडर को प्रतियोगिता के लिए रजिस्ट्रेशन करना होगा। टीम के किसी अन्य सदस्य को रजिस्ट्रेशन करने की आवश्यकता नहीं है।
  • एक व्यक्ति कई टीमों के सदस्‍य के रूप में भाग ले सकता है, लेकिन एक से अधिक टीमों का टीम लीडर नहीं हो सकता है।
  • एक ही टीम कई विषयों के लिए समाधान प्रस्तुत कर सकती है, हालांकि इसके लिए टीम को एक अलग टीम लीडर के साथ कई बार स्वयं को रजिस्टर करना होगा।
  • टीम लीडर द्वारा रजिस्ट्रेशन के दौरान निम्नलिखित जानकारी देना आवश्यक है:
    • टीम लीडर की जानकारी
    • कॉलेज का नाम, यदि लागू हो
    • टीम लीडर का जिला
    • पसंदीदा विषय
    • टीम के सदस्यों की जानकारी
  • रजिस्ट्रेशन के समय में टीम लीडर को सत्यापन का ईमेल भेजा जाएगा।
  • रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी करने के बाद टीम के सभी सदस्यों को ईमेल से इसकी सूचना भेजी जाएगी।

प्रस्तुति (presentation) के लिए दिशानिर्देश

टीमों द्वारा तैयार की गई प्रस्तुति को नीचे बताए गए प्रारूप में तैयार किया जा सकता है। कृपया इसे एक दिशानिर्देश के रूप में ही समझें, नए विचारों का हमेशा स्वागत है।

समस्‍या

  • विस्‍तार
  • कारण
  • कोई खास कारण चुनने की वजह, अगर चुना गया है

प्रस्‍तावित समाधान

  • प्रस्‍तावित समाधान
  • मौजूद विकल्‍प (विकल्‍पों) से तुलना
  • समाधान की अच्‍छाइयां और कमजोरियां

समाधान का क्रियान्‍वयन

  • शामिल किए गए महत्‍वपूर्ण बिंदु
  • प्रत्‍येक चरण में हितधारक शामिल
  • मौजूदा सरकारी अवसंरचना का लाभ लेना
  • प्रत्‍येक चरण में आवश्‍यक वित्‍तीय और मानव संसाधन
  • धन के प्रस्‍तावित स्रोत

समाधान का प्रभाव

  • समाधान के प्रभाव को मापने के लिए मानदण्‍ड
  • समाधान की मापनीयता
  • समाधान की स्थिरता
  • उपयुक्‍त निगरानी (monitoring) यंत्ररचना

चुनौतियां और उनका निराकरण

  • प्रस्तावित समाधान के लिए सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक चुनौतियों की पहचान dhkbchisjkn,,mfgfrgbdsrgfdvfcxzsdcfvgfcdxzsfsfvsaefdcwarsकरना
  • प्रस्तावित समाधान की कानूनी, तकनीकी और पर्यावरणीय चुनौतियां, यदि कोई हो
  • पहचानी गई चुनौतियों को कम करने के उपाय

परिशिष्‍ट

  • सहायक दस्‍तावेज और अन्‍य स्रोत
  • संदर्भ और उद्धरण

प्रस्तुति जमा करने के लिए दिशानिर्देश

  • प्रस्तुति को पीडीएफ फॉर्मेट में जमा करना अनिवार्य है
  • प्रस्तुति की भाषा हिन्‍दी या अंग्रेजी होगी
  • प्रस्तुति फ़ाइल की साइज़ 2 MB से अधिक नहीं होनी चाहिए
  • प्रस्तुति में 10 मुख्य स्‍लाइड से अधिक नहीं होनी चाहिए। संदर्भ, अनुलग्‍नकों, और शीर्षक स्लाइड को 10 मुख्‍य स्लाइड में नहीं गिना जाएगा।
  • प्रस्तुति में फांट (font) साइज़ 12 से कम नहीं होना चाहिए।
  • प्रस्तुति ‘कैलिबरी’ या ‘टाइम्‍स न्‍यू रोमन’ फांट में ही होना चाहिए।
  • प्रस्तुति जमा करने के बाद यदि कोई संशोधन हो तो जमा करने की समयसीमा से पहले संशोधित प्रस्तुति दोबारा जमा किया जा सकता है।

निर्णय के मानदंड

  • प्रस्तुतियों (entries) को पूरे उत्‍तर प्रदेश में 6 क्षेत्र में बांटा जाएगा:
पश्चिम ब्रज अवध कानपुर बुंदेलखंड गोरखपुर काशी
अमरोहा आगरा अम्‍बेडकर नगर औरैया आजमगढ़ इलाहाबाद
बागपत अलीगढ़ बहराइच बांदा बलिया अमेठी
बिजनौर बरेली बलरामपुर चित्रकूट बस्‍ती भदोही
बुलंदशहर बदायूं बाराबंकी इटावा देवरिया चंदौली
गौतम बुद्ध नगर एटा फैजाबाद फर्रुखाबाद गोरखपुर गाजीपुर
गाजियाबाद फिरोजाबाद गोण्‍डा फतेहपुर कुशीनगर जौनपुर
हापुड़ हाथरस हमीरपुर महराजगंज कौशाम्‍बी
मेरठ कासगसंज लखीमपुर खीरी जालौन मऊ मिर्जापुर
मुरादाबाद मैनपुरी लखनऊ झांसी संतकबीरनगर प्रतापगढ़
मुजफ्फरनगर मथुरा रायबरेली कन्‍नौज सिद्धार्थनगर सोनभद्र
रामपुर पीलीभीत श्रावस्‍ती कानपुर देहात सुलतानपुर
सहारनपुर शाहजहांपुर सीतापुर कानपुर नगर वाराणसी
संभल उन्‍नाव ललितपुर
शामली महोबा
  • निर्णय की प्रक्रिया नॉलेज पार्टनर के सहयोग से पूरी की जाएगी।
  • सभी प्रस्तुतियों का निर्णय उनकी रचनात्मकता/ नवीनता, व्यवहार्यता और समाधान की स्केलेबिलिटी के आधार पर किया जाएगा।
  • क्षेत्रीय सम्मेलनों के लिए प्रत्येक क्षेत्र में से 10 टीमों (हर विषय से एक) का चयन किया जाएगा।
  • शीर्ष 10 टीमों (प्रत्‍येक विषय से एक) का चयन क्षेत्रीय सम्‍मेलनों के जरिए किया जाएगा। ये टीमें प्रतियोगिता के फाइनल में राज्‍य नेतृत्‍व के समक्ष होने वाले समापन महासम्‍मेलन में अपने समाधान dhkbchisjkn,,mfgfrgbdsrgfdvfcxzsdcfvgfcdxzsfsfvsaefdcwarsपेश करेंगी।